कामवाली को एक रात के लिए गर्लफ्रेंड बनाया

बारिश का मौसम चल रहा है और बाहर जाकर चुदाई करने के मौका तो मिलेगा नहीं.  अब घर में भाभी को देखकर लंड को शान्ति दे दो या तो फिर चुप बैठ जाओ। ऐसी ही कुछ हालत मेरी कुछ महीने पहले।  अब न कोई भाभी मिल रही थी और ना ही कोई गर्लफ्रेंड।  अब एक २० साल का लड़के का लंड तो दिन भर खड़ा ही रहता है। मैं दिखने में काफी लम्बा और गोरा था लेकिन मेरा ९ इंच का लंड हमेशा गरम रहता था।  बारिश का महीना था और कॉलेज जाना नहीं था। अब मैं के फ्लैट में रहता था और दोस्त भी नहीं। बस एक नौकरानी थी जो काम करने आती थी।

इस कामवाली का नाम था ऋतू।  इस कामीवाली की उम्र लगभग ४० थी और बाल आधे सफ़ेद।  कुछ दिनों में ऋतू मेरी एक अछि दोस्त बन गयी। 

एक दिन मैंने उससे पूछा ”तुम्हारे पति कहा है’

उन्होंने कहा ”अनुज साहब मेरे पति ने मुझे छोड़ दिया और मेरा कोई बच्चा भी नहीं है। इसलिए मैं इस तरह से रहती हु”

मैंने कहा ”तुम मेरी दोस्त हो, कोई ज़रूरत पड़े कह देना’

वो मुस्कुरा उठी। 

मैंने कहा ”ऋतू मेरी गर्लफ्रेंड आने वाली है कल रात, लेकिन तुम तो मेरे पापा को सब बता दोगी। 

उन्होंने कहा ”नहीं आप लेकर आजाओ, किसी को कुछ पता नहीं चलेगा”

अगले दिन बड़े ज़ोर की बारिश थी।  जिस वजह से ऋतू को रात में रुकना पड़ा। 

उस दिन ऋतू ने मेरे पूरा कमरा सजा दिया जैसे मेरी सुहागरात हो। मैं और मेरी गर्लफ्रेंड देखकर काफी खुश हुए। 

मैंने ऋतू को २००० रुपये दे दीये। ऋतू ने मेरे लिए बादाम वाला गरम गरम दूध भी बनाया था। 

मैंने पूछा ”यह क्यों”

ऋतू बोली ”ताक़त आएगी,,रात भर मजे करना,,,,मैं किचन में जाकर सो रही हु। 

अगले दिन सुबह मेरी गर्लफ्रेंड जाने के बाद ऋतू मुझे देखकर हस रही थी। 

मैंने पूछा ”क्या हुआ”

ऋतू बोली ”काफी थक हो गए?”

मैंने कहा ”हां यार, काफी मेहनत लगी”

ऋतू हसकर बोली ”हा, सुबह ४ बजे तक आवाजें आ रही थी”

कुछ दिन बाद मैंने ऋतू एक पूरा मेकअप का सेट लाकर दिया। देखकर वो काफी खुश हो गयी।  

 मैंने कहा ”तुम सुन्दर हो, इससे इस्तेमाल करो और अच्छी लगोगी। 

वो मुस्कुराकर किचन में चली गयी। कुछ दिनों के बाद मैंने देखा वो सजने सवारने लगी थी। अच्छे कपडे, पायल, लिपस्टिक और भी बहुत कुछ। मैं भी इस चीज़ को देखकर बहुत खुश था।  कुछ वक़्त बाद मैं बाइक पर जा रहा था।  इतने में ही ऋतू मेरी बाइक पर बैठ गयी।  

ऋतू बोली ”मुझे भी बाजार घुमा दो,,,काफी दिन हो गए। 

बाजार में मैंने पूछा ”तुम भी कुछ लेलो”

ऋतू ने कहा ”ब्रा और पैंटी दिलादो। 

मैंने ऋतू को साथ में कुछ और अच्छे कपडे भी दिला दिए। अगले दिन ऋतू मेरे पास आयी और यहाँ वाह की बातें करने लगी। 

बातों बातों में ऋतू ने कहा ”तुम्हारी तो गर्लफ्रेंड है, मुझे भी एक बॉयफ्रेंड चाहिए। अब तो मैं सुन्दर लगने लगी हु। 

मैं यह बात सुनकर हसने लगा बहुत ज़ोर ज़ोर से।

मैंने कहा ”मैं समझ सकता हु तुम्हे एक मर्द ही ज़रूरत है”

ऋतू बोली ”मैं तो बहुत बचकर चलती हु,,लेकिन हां मुझे भी ज़रूरत है”

मैंने मन ही मन में सोचा की पापा ने ऋतू को रखा था की यह मेरा ख्याल रख पाए।  अब इससे ही एक मर्द की ज़रूरत है। 

मैंने ऋतू से कहा ”एक बॉयफ्रेंड नहीं,,,काफी बनवा दूंगा”

मैं यह सोचने लगा मजा आ जायेगा।  अपने सब दोस्तों से इससे चुड़वाउंगा,,,यह तो एकदम रन्डी बन जाएगी। 

मैंने ऋतू से बोलै ”मैं तुम्हे तैयार करूँगा,,तुम्हारी हालत देखकर कोई लड़का पास नहीं आएगा”

ऋतू बोली ”ठीक है जैसा तुम बोलोगे,,वैसे भी मैं करुँगी”

अगले दिन ऋतू ने नेल पोलिश लगायी और बालों पर डाई करकर बाथरूम से निकली।  

ऋतू ने कहा ”कैसी लग रही हो मैं”

मैंने कहा ”बहुत ही सेक्सी,,मेरे लंड में हलचल हो रही है”

इतने में ऋतू पास आयी और कहा ”मेरे लिए प्यास भुजाने वाले मर्द बन जाओ”

मैंने कहा ”मैं किसी भी सेक्सी औरत का मर्द बन सकता हु”

मेरे खड़े हुए लंड को देखते ही ऋतू बोली ”यह क्या हो रहा है आपको साहब?”

मैंने कहा ”अब इतने रसीले और बड़े बूब्स दिखाओगी तो ऐसी ही होगा”

सुनते ही ऋतू मेरे लंड को सहलाने लगी।  कुछ देर बाद मैंने ऋतू की गांड से अपना लुंड रगड़ने लगा,,,उसके बदन में भी अलग सी हलचल हो रही थी।  उसने मुझे कसकर गले लगा लिया।  उसका बदन बिलकुल गरम था और मैं समझ गया की अब इसकी ठुकाई करनी ही पड़ेगी। मेरा खड़ा लंड उससे अच्छे से महसूस हो रहा था। 

थोड़ी देर बाद बोली ”क्यों इस बिचारे लंड को इतनी तकलीफ दे रहे हो,,,लाओ मैं आज़ाद कर दू इससे। 

उसने मेरे पैंट को निकल दिया और मेरे लंड को ज़ोर ज़ोर से हिलाने लगी। 

हिलाते हुए ऋतू बोली ”अब समझ रात भर इतनी आवाज क्यों आती है।  जब लंड इतना बड़ा हो तो चीखें निकालनी ही है। 

ऋतू अपने दोनों हातों से मेरा लंड मसल रही थी।  कुछ देर बाद बिना देरी करे वो मेरे लंड को चूसने लगी।  ऋतू मेरे लंड को ऐसे चूस रही थी जैसे लॉलीपॉप हो।  कुछ भी हो मज़ा तो बड़ा गज़ब का आ रहा था।  

मैंने ऋतू से कहा ”दूर होजाओ, वरना मैं झड़ जाऊंगा”

ऋतू ने कहा ”झड़ जाओ,,कोई दिक्कत नहीं”

जैसे ही मैं सिसकियाँ ले रहा था, ऋतू हस्ते हस्ते ज़ोर से लंड को चूस रही थी।  मैंने काफी ऋतू को रोक रहा था लेकिन वो तो मेरा पूरा पानी पी गयी।  

मैंने कहा ”तुम तो सारा पानी पी गयी”

ऋतू बोली ”बड़े लुंड का पानी पीने में अलग ही मजा है”

आज रात ही मेरी गर्लफ्रेंड आने वाली थी,,,लेकिन बारिश तेज थी और वो नहीं आ पायी। 

मैंने ऋतू से कहा ”आज रात तुम मेरी गर्लफ्रेंड हो”

मैंने शुरू से उसकी छूट को चूमने लगा और क्या गज़ब की छूट थी बिलकुल साफ़ और सुन्दर।  मैं उसके ऊपर लेत गया और रसीले आमों को दबा रहा था चूस भी रहा था। 

ऋतू बोली ”रहा नहीं जा रहा,,चुदाई के मजे चाहिए मुझे। 

मैंने तो फिर जो धक्के लगाए,,,ऐसा लग रहा था पड़ोस वाले ऊठ जायेंगे।  ऐसी गज़ब की चुदाई तो मैंने अब तक नहीं की। ऋतू को दर्द हो रहा था लेकिन मैं नहीं रुका। जब हल्का सा खून निकलना चालू हुआ साथ में मैं भी झड़ गया। 

दोस्तों अगर आपकी भी ऋतू जैसी कामवाली कामुक है,, मजे करलो,,इनकी छूट बहुत रसीली होती है।  

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

Releated

दोस्त की प्यासी बीवी को खुश किया

हेलो दोस्तों, मेरा नाम राज और मैं वापी का रहने वाला ह। मेरी पिछली कहानी पढ़कर आप सबको बहुत मज़ा आया होगा। उम्मीद है आज की कहानी में पढ़कर फिर आपको मज़ा आये। आपको पता है मुझे लड़कियों से ज़्यादा आंटी और भाभी पसंद आती है। आज की कहानी मेरे एक दोस्त और उसकी बीवी […]

मेट्रो में मिली चुडासी भाभी की प्यासी मिटाई

दोस्तों बारिश का मौसम बहुत अच्छे से आ चूका है और असली चुदाई का मज़ा तो यही मौसम में है। मैं आज आपको एक सच्ची घटना के बारे में बताता हु जो पिछले बारिश के मौसम की है। मेरा नाम आनंद है और मैं मुंबई रहने वाला हु। मेरी उम्र २३ साल है और मैं […]

बहन को रंडी बनाकर चोदा

हेलो दोस्तों, मेरे नाम अर्जुन है और मैं पुणे का रहने वाला हु। मैं आज आपको अपनी जीवन के एक बहुत ही अच्छी कहानी के बारे में बताता हु। यह एक रियल स्टोरी है और मैं जब भी इस बारे में सोचता, बहुत ही खुश हो जाता हु। मेरे बहन का नाम राधा है, जो […]

दोस्त की मम्मी ने मेरी प्यासी मिटाई

हेलो दोस्तों मेरा नाम संदीप है और मैं दिल्ली का रहने वाला हु। मेरी उम्र २८ साल है मेरी शादी हो चुकी है। लेकिन कुछ महीने पहले किसी निजी कारण के वजह से तलाक भी हो गया। अब मैं दिल्ली में अपने घर में रहता हु और साथ में जॉब भी करता हु। आज की […]

Disclaimer - यह कहानी आपके सेक्स आनंद को बढ़ावा देने के प्रयास से लिखी गयी है, इसलिये इसे केवल एक मनोरंजन की ही तरह उपयोग में लेवे|यह कहानी आपकी आत्मा और मानसिकता पर बुरा प्रभाव डाल सकती है साथ ही आपके वैवाहिक जीवन में बुरा प्रभाव डाल सकती है|कहानी को पढ़ते समय इस बात का हमेशा ध्यान रखें की यह एक काल्पनिक कहानी है सच्चाई से इसका कोई सम्बन्ध नहीं है| Hindi Sex Story| Bangla Choti Golpo | Antarvasna